नहीं रुकेंगे कदम, जारी रहेगी सेवा: भाजपा

– कोरोना पीड़ितों के परिजनों को भोजन सामग्री वितरित करने से मना करने पर बिफरी भाजपा
– सांसद निशिकांत दुबे ने कहा भारत के इतिहास में यह पहली घटना
अभय पलिवार की रिपोर्ट
गोड्डा: जानलेवा कोरोना महामारी की त्रासदी कालीन परिस्थिति में जहां कुछ लोग आपदा में अवसर को भांपते हुए मानवता को ताक पर रखकर जीवन रक्षक दवाओं की कालाबाजारी करने में लगे हैं, वहीं ऐसे लोगों की भी कमी नहीं है जो अपनी जान की बाजी लगाकर पीड़ित लोगों की सहायता कर रहे हैं। गोड्डा क्षेत्र में भी अनेक लोगों ने पीड़ित लोगों की सहायता के लिए सहयोग का दरवाजा खोल दिया है। इसी कड़ी में स्थानीय सांसद डॉ निशिकांत दुबे की ओर से विभिन्न अस्पतालों में भर्ती कोरोना पीड़ित मरीजों के परिजनों के लिए पिछले करीब 10 दिनों से भोजन सामग्री उपलब्ध कराई जा रही है। लॉकडाउन के कारण होटल बंद हैं। ऐसी स्थिति में सांसद के सौजन्य से उपलब्ध कराई जा रही भोजन सामग्री से कोरोना संक्रमितों के परिजनों को बहुत राहत मिल रही है। लेकिन सोमवार से इस भोजन वितरण व्यवस्था के प्रति प्रशासन की नजर तिरछी हो गई है। प्रशासनिक भृकुटि तन गई है। भोजन वितरण में लगी भाजपा की टीम को इस कार्य को करने से मना किया जा रहा है। इसके कारण भाजपा एवं जिला प्रशासन के बीच टकराव की स्थिति पैदा हो गई है। भाजपा ने कहा है कि मरीजों के परिजनों को भोजन सामग्री उपलब्ध कराने के लिए बढ़े कदम रुकेंगे नहीं। सेवा कार्य जारी रहेगा। वहीं सांसद डॉक्टर दुबे ने भी सोशल मीडिया पर पोस्ट करते हुए कहा है कि भारत के इतिहास में यह पहली घटना है, जब गरीबों को, मरीजों के परिजनों को भोजन सामग्री वितरित करने से रोका जा रहा है।
भाजपा के जिला महामंत्री कृष्ण कन्हैया ने प्रेस विज्ञप्ति जारी कर कहा है कि बड़े आश्चर्य की बात है कि आज जिला प्रशासन सत्ता दल के एजेंट के रूप में काम कर रहे हैं । इस महामारी काल में लोग एक दूसरे की कैसे मदद करेंगे, कैसे आगे बढ़ चढ़कर एक दूसरे की सहायता करेंगे, इसमें जिला प्रशासन को और सहयोग करना चाहिए। जो लोग समाज के लिए आगे बढ़कर सहयोग कर रहे हैं, उन लोगों का हौसला अफजाई किया जाना चाहिए।
लेकिन इसके बजाय हमें पीड़ित मानवता एवं जरूरतमंदों की सेवा करने से रोका जा रहा है। श्री कन्हैया ने कहा कि पिछले 8 मई से लगातार सांसद डॉ निशिकांत दुबे के सौजन्य से हमलोगों द्वारा कोविड-19 पेशेंट्स के अटेंडेंट को दोपहर का भोजन पैकेट कोविड-19 के गाइडलाइन को पूरी तरह फॉलो करते हुए, सोशल डिस्टेंसिंग मेंटेन करते हुए, हैंड ग्लव्स इस्तेमाल करते हुए, भोजन के गुणवत्ता को देखते हुए, सभी मापदंड को मानते हुए बांटी जा रही है, जिससे कि होटल बंद रहने के कारण मरीजों के परिजनों को परेशानी नहीं हो।
लेकिन जिला प्रशासन ने एक फरमान जारी करते हुए भारतीय जनता पार्टी के जिला अध्यक्ष राजीव मेहता को कहा कि आप लोग भोजन पैकेट वितरण नहीं कर सकते हैं। इसके पीछे कारण क्या है, यह नहीं बताते हैं। आदेश लिखित रूप में भी नहीं देना चाहते हैं। सिर्फ मौखिक रूप से कहा जा रहा है कि भोजन वितरण करना बंद कर दीजिए।
भाजपा जिला महामंत्री श्री कन्हैया ने कहा कि पार्टी ने यह निर्णय लिया है कि हम लोग गरीब, असहाय और जिनको भोजन की आवश्यकता है, उनको भोजन लगातार 31 मई तक उपलब्ध कराती रहेंगे। उन्होंने जिला प्रशासन आग्रह किया है कि इस कार्य में प्रशासन सहयोग करें, न कि अड़ंगा लगाए।