गोड्डा कॉलेज की जमीन संबंधी समस्या को लेकर विधायक प्रदीप यादव से मिला शिक्षक संघ

गोड्डा : गोड्डा कॉलेज, गोड्डा की जमीन संबंधी समस्या को लेकर शनिवार को कॉलेज शिक्षक संघ के एक प्रतिनिधिमंडल ने पोड़ैयाहाट के विधायक प्रदीप यादव से उनके स्थानीय आवास पर मिलकर ज्ञापन सौंपा।
मालूम हो कि 1954 में स्थापित गोड्डा कॉलेज, संथाल परगना का सबसे पुराना सरकारी अंगीभूत कॉलेज है। इसकी भूमि संबंधी समस्याओं के समाधान के लिए गोड्डा कॉलेज का 9 सदस्यीय प्रतिनिधि मंडल विधायक प्रदीप यादव से मिला। बताते चलें कि पिछले कई वर्षों से विधायक श्री यादव गोड्डा कॉलेज की भूमि संबंधी मामलों को हल करने में लगे हुए हैं।
1951 में गोड्डा कॉलेज भूमि अधिग्रहण कानून के तहत प्रस्तावित 38.8 एकड़ जमीन गोड्डा कॉलेज को मिली थी। लेकिन भूमि अधिग्रहण के कुछ कागजात नहीं मिल पाने के कारण प्रक्रिया अधूरी रह गई। लगभग 70 वर्षों तक मामला अधर में रहने के बाद विधायक प्रदीप यादव की पहल पर गोड्डा कॉलेज भूमि अधिग्रहण संबंधित कार्य पूरा किया जा रहा है। प्रस्तावित गोड्डा कॉलेज भूमि राजस्व विभाग की है और वन विभाग से क्लीयरेंस लिया जाना है। विधायक श्री यादव ने राज्य स्तर पर मुख्यमंत्री ,मुख्य सचिव , उपायुक्त आदि को समस्याओं से अवगत करा कर गोड्डा कॉलेज प्रस्तावित भूमि की नापी संपन्न कराई और नक्शा गोड्डा कॉलेज को हस्तगत कराया है। इसके लिए शिक्षक संघ के प्रतिनिधि मंडल ने विधायक श्री यादव को धन्यवाद दिया। साथ ही कॉलेज भूमि को झारखंड सरकार उच्च शिक्षा विभाग को अधिग्रहण करने में मदद करने की अपील की। विधायक ने आश्वासन देते हुए कहा कि कॉलेज शीघ्र शिक्षा विभाग ,झारखंड को पत्र लिखे। शिक्षा विभाग झारखंड के राजस्व विभाग से शून्य पैसे में जमीन अधिग्रहण कराने के लिए प्रक्रिया चलाएगा। विधायक ने कहा कि गोड्डा कॉलेज जमीन की समस्या का वे शीघ्र हल कराएंगे एवं राजस्व और वन विभाग से जल्द ही नो ऑब्जेक्शन सर्टिफिकेट दिलाने की कोशिश करेंगे।
प्रतिनिधिमंडल में डॉक्टर मसूद, डॉ पंकज, प्रो बासुकीनाथ झा, प्रोफ़ेसर महताब, अशोक हजारी, प्रोफेसर जॉर्ज , प्रोफेसर जितेंद्र यादव, प्रो नीरज बास्की एवं प्रोफ़ेसर रंजन कुमार शामिल थे।