चिकित्सकों का करूणा भाव कोरोना की धार को कुंद करने में कारगर सिद्ध होगी: प्रधानमंत्री

– प्रधानमंत्री ने वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग द्वारा विभिन्न राज्यों के चिकित्सकों से किया सीधा संवाद

गोड्डा से अभय पलिवार की रिपोर्ट
गोड्डा: सोमवार को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के द्वारा वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के माध्यम से देश के विभिन्न राज्यों के चिकित्सकों के साथ सीधा संवाद किया गया। झारखंड राज्य के गोड्डा जिले से इस बैठक का प्रतिनिधित्व डॉ राजीव रंजन ने किया। इस बैठक में कोरोना महामारी के बचाव एवं रोकथाम के लिए विभिन्न राज्यों के द्वारा की जा रही तैयारियों का जायजा प्रधानमंत्री के द्वारा लिए गए। बैठक में विभिन्न राज्यों से प्रतिनिधित्व कर रहे चिकित्सकों ने अपने अपने वक्तव्य प्रस्तुत किए । झारखंड राज्य से एम्स के चिकित्सक ने भी प्रधानमंत्री के समक्ष अपनी बातों को रखा। इस बैठक में उपस्थित चिकित्सकों के द्वारा जो अनुभव एवं सुझाव दिए गए, उसको लेकर प्रधानमंत्री श्री मोदी के द्वारा सभी चिकित्सकों का धन्यवाद ज्ञापन किया गया। कोविड की इस लड़ाई सहयोग के लिए प्रधानमंत्री के द्वारा सभी चिकित्सकों के कार्यो एवं आत्मविश्वास की सराहना की गई।

प्रधानमंत्री श्री मोदी ने कहा कि सभी चिकित्सकों के भीतर जो करुणा का भाव है, वह कोरोना की धार को खत्म करने में कारगर साबित होगी। कहा कि कोरोना माहमारी के दूसरी लहर का मुकाबला जिस प्रकार से सभी ने मिलकर किया है वह काबिले तारीफ है और आगे भी इस महामारी का मुकाबला हम डटकर करेंगे। प्रधानमंत्री ने जिले के कोरोना वॉरियर्स एवं फ्रंटलाइन वर्कर का धन्यवाद ज्ञापन करते हुए उनके कार्यों की सराहना की। कहा कि डॉक्टर भगवान का रूप होता है ।अतः उनके द्वारा कम्युनिकेट होने वाले बातों से मरीजों को मनोवैज्ञानिक रूप से बहुत बड़ी ताकत मिलती है। प्रधानमंत्री ने कहा कि विश्वास जगाने की सबसे बड़ी जड़ी-बूटी डॉक्टर स्वयं है। उन्होंने बताया कि इतनी लंबी लड़ाई को लगातार लड़ना आप सभी चिकित्सकों के लिए भी मानसिक रूप से काफी कठिन रहा होगा आपके परिवार के हर सदस्य के लिए भी काफी मुश्किल का दौर है। अतः इस संकट की घड़ी में एक साथ मिलकर पूरे देश का सहयोग करें।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *