निपुण भारत अभियान के सफल संचालन को लेकर उपायुक्त ने अधिकारियों को दिए आवश्यक दिशा निर्देश

सरायकेला से भाग्य सागर सिंह की रिपोर्ट

सरायकेला। उपायुक्त अरवा राजकमल की अध्यक्षता में समाहरणालय सभा कक्ष में गुरुवार को शिक्षा विभाग से सम्बंधित बैठक का आयोजन हुआ। बैठक में शिक्षा समग्र अभियान एवं मध्याह्न भोजन से सम्बंधित विभिन्न बिंदुओं पर पूर्व की बैठक में दिए निर्देशों की उन्होंने प्रखंडवार समीक्षा की। पूर्व के बैठक में सभी बीईईओ को प्रतिमाह कम से कम 20 विद्यालय निरीक्षण कर शिक्षकों की उपस्थिति, ऑनलाइन अटेंडेंस चेक अप एवं मिड डे मील संबंधित विभिन्न बिंदुओं पर जानकारी प्राप्त कर विभाग को अवगत कराने को कहा गया था।
जिसके आलोक सभी बीईईओ द्वारा 20-30 की संख्या में विद्यालयों में निरीक्षण किया गया है। जिला शिक्षा पदाधिकारी ने बताया पूर्व माह तक डीजी साथ के माध्यम से ऑनलाइन क्लास में लगभग 53 हजार छात्र जुड़ते थे वहीं इस माह में 20000 की बढ़ोतरी करते हुए 73000 की संख्या में बच्चे ऑनलाइन के माध्यम शिक्षा से जुड़ रहे हैं। पूर्व में लगभग 3000 शिक्षक बायोमेट्रिक अटेंडेंस से वंचित थे वह संख्या भी अब 700 में आ गई है। उपायुक्त ने सभी बीईईओ को लगातार विद्यालयों के निरीक्षण करते रहने के निदेश दिए। उपायुक्त ने कहा कि निर्वाचन कार्य में जुड़े शिक्षक जो किसी कारणवस बायोमैट्रिक अटेंडेंस करने में असमर्थ हो रहे हैं उन्हें छोड़ शत प्रतिशत शिक्षकों का बायोमेट्रिक अटेंडेंस सुनिश्चित किया जाय। सभी सुविधाएं उपलब्ध विद्यालयों के शिक्षक बायोमेट्रिक अटेंडेंस नहीं करते है तो उनका वेतन काटा जाय। मिड डे मील से संबंधित बच्चों को शत प्रतिशत ससमय राशन मिले यह सुनिश्चित करें। उपायुक्त द्वारा निर्देशित किया गया कि ई विद्या वाहिनी पोर्टल में कस्तूरबा विद्यालय समेत सभी सरकारी विद्यालय के शिक्षक मैट्रिक अटेंडेंस बनाएं, बच्चों का अटेंडेंस ई विद्या वाहिनी पोर्टल में अपलोड करें।राज्य सरकार के निर्देशानुसार 24 सितम्बर से कक्षा 6 से 8 तक की कक्षाएं संचालित होंगी, सभी बीईईओ विद्यालयों में स्वच्छता, सैनिटाइजेशन व शौचालय व्यवस्थाओं का निरीक्षण करने। सभी शिक्षक विद्यालयों में बच्चों की उपस्थिति दर्ज कराने हेतु अभिभावक एवं बच्चों को प्रेरित करें, पुलिस सुरक्षा मानकों की जानकारी दें तथा शिक्षा से जोड़ने हेतु बच्चों को विद्यालय आने को प्रेरित करें। सभी विद्यालयों में गुरु गोष्टी कर विभिन्न बिंदुओं समेत कोविड-19 से बच्चो को सुरक्षा की जानकारी देते हुए समिति सदस्य एवं अभिभावकों को प्रेरित करें। विद्यालय भवन में आवश्यक सुविधाओं को बहाल करने हेतु स्टीमेट तैयार कर कार्यालय को उपलब्ध कराने। सभी बीईओ एवं संबंधित प्रधानाचार्य विद्यालय मैनेजमेंट कमेटी के साथ बैठक कर यह सुनिश्चित करने कि विद्यलय भवन में बिना अनुमति प्राप्त किए गैर शैक्षणिक कार्य हेतु विद्यालय भवन का उपयोग ना हो। यदि किसी विद्यालय में जुवा, शराब पिने से सम्बंधित या विद्यालय भवन से संबंधित सामग्रियों की चोरी की सूचना प्राप्त होती है तो नियमानुसार समिति समेत अन्य संबंधित पर भी कार्रवाई सुनिश्चित की जाएगी। पिरामल फाउंडेशन के सीनियर प्रोग्राम हिट निलेश कुमार व उनकी पांच सदस्य टीम उपस्थित रही। बैठक में निलेश कुमार द्वारा निपुण भारत मिशन (कक्षा 1 से 3 ) के तहत किए जा रहें कार्य योजनाओं की जानकारी विस्तार पूर्वक दी गई। उपायुक्त ने कहा सभी बीईईओ पैरामेल फाउंडेशन के तहत कार्य योजनाओं का संचालन करने वाले टीम का सहयोग करेंगे, ताकि बच्चों को फाउंडेशन के तहत दी जाने वाली शिक्षा संबंधित सुविधाओं का लाभ समय दिया जा सके।
उपायुक्त ने निपुण भारत अभियान (नेशनल इनीशिएटिव फॉर प्रोफिशिएंसी इन रीडिंग विद अंडरस्टैंडिंग एंड न्यूमेरेसी) के सफल संचालन और गुणवत्तापूर्ण शिक्षा के साथ स्कूलों में सक्षम वातावरण तैयार करने की बात कही। जिसके माध्यम से आधारभूत साक्षरता और संख्यात्मकता के ज्ञान को छात्रों को प्रदान किया जा सके। उन्होंने कहा ऐसे में निपुण भारत अभियान की शुरुआत का उद्देश्य भी साक्षरता और संख्या ज्ञान के लिए बच्चों को एक सुलभ वातावरण प्रदान करना है, ताकि हर बच्चा कक्षा तीन तक पढ़ाई, लिखाई और अंकों के ज्ञान में जरूरी निपुणता हासिल कर सके।
उपायुक्त ने निपुण भारत अभियान को लेकर संबंधित अधिकारियों को निर्देशित किया कि मिशन मोड़ में आपसी सहयोग के साथ सभी को कार्य करने की आवश्यकता हैं। कहते हैं कि बच्चों की मूलभूत शिक्षा में सुधार के लिए एक सफल मिशन की परिकल्पना संस्थानों, शिक्षकों, माता-पिता, समुदाय, स्थानीय निकायों आदि की सक्रिय भूमिका के बिना नहीं की जा सकती। इसलिए निपुण भारत मिशन शुरू किया गया है।
उपायुक्त ने जिले वासियों से अपील करते हुए कहा कक्षा 6 से 12 तक की कक्षा कल से संचालित होंगी अतः किसी भी प्रकार के भ्रांतियों / अफवाहो पर विश्वास ना कर बच्चों को विद्यालय आने की अनुमति दें। राज्य सरकार के निर्देशानुसार कल दिनांक 24 सितंबर 2021 से 6 से 8 की कक्षा संचालित की जाएंगी। पूर्व से 9 से 12वीं की कक्षा संचालित की जा रही है। बैठक में जिला शिक्षा पदाधिकारी, जिला कार्यक्रम पदाधिकारी , प्रखंड शिक्षा पदाधिकारी , एसऐमपीओ, पिरामल फाउण्डेशन के सुजीत त्रिवेदी, अतिरिक्त जिला कार्यक्रम पदाधिकारी, क्षेत्र शिक्षा पदाधिकारी, बीपीओ एवं संबंधित अन्य पदाधिकारी उपस्थित थे।