बसंतराय प्रखंड स्थापना दिवस पर जमी कवियों एवं शायरों की महफिल

कामिल की रिपोर्ट
बसंतराय: बसंतराय प्रखंड के 12वें स्थापना दिवस के मौके पर गुरुवार को प्रखंड कार्यालय परिसर में कवि सम्मेलन सह मुशायरा कार्यक्रम आयोजित किया गया। सामाजिक कार्यकर्ता सुलेमान जहांगीर आजाद की अगुवाई में आयोजित कवि सम्मेलन सह मुशायरा कार्यक्रम में घंटों तक महफिल जमी रही।
मौके पर शायर शंकर कैमुरी, राष्ट्रीय स्तर के प्रसिद्ध कवि डॉक्टर राधेश्याम चौधरी, कलीमुल्ला परवाना, जावेद अख्तर, फैज रहमान फैज, नदीम सरवर, मुजाहिदुल इस्लाम, नज़ीर राही, शाइस्ता जबी,मोहम्मद तारिक आलम आदि ने अपनी रचनाओं के माध्यम से उपस्थित श्रोताओं की जमकर ताली बटोरी
कार्यक्रम के शुरुआत में मुजाहिदउल इस्लाम, राजद प्रखंड अध्यक्ष मोहम्मद एहतेशामुल हक, कांग्रेस प्रखंड अध्यक्ष मोहम्मद आलमगीर आलम, डॉक्टर जहीर अहमद, नसीम अख्तर, जमील अहमद, डॉ राधेश्याम चौधरी आदि ने दीप प्रज्वलित कर कार्यक्रम का उद्घाटन किया। कार्यक्रम का आगाज शायर शंकर कैमुरी ने नातिया कलाम से किया। डॉक्टर राधेश्याम चौधरी ने अपनी कविता वतन की हालात देखकर सोचता रहता हूं, कलम हाथ में लेकर सोचता रहता हूं….. के माध्यम से श्रोताओं पर अमिट छाप छोड़ी।
मौक़े पर शेख कल्याण मंच के अध्यक्ष सुलेमान जहांगीर आजाद, बसंतराय प्रखंड निर्माण मंच के अध्यक्ष जमील अख्तर, डॉक्टर जहीर अहमद, सीताराम खेतान, कांग्रेस प्रखंड अध्यक्ष आलमगीर आलम, नसीम अख्तर, फारूक आजम आदि उपस्थित थे।