सद्गुरु ने जो कृपा दृष्टि डाली, भर गई झोलियां जो थी खाली

रामगढ़: अत्यंत असाधारण , अकल्पनीय एवं अलौकिक रही । बीते “ओशो ध्यान” की मंगलमयी बेला। गुरुवंदना से प्रारंभित होकर क्रमशः प्राणायाम , संजीवनी ध्यान एवं लोक कल्याण की कामना व उत्सव से होती हुई प्रसाद ग्रहण के क्रम तक आनंदप्रदायी रही।
आनंदमयी क्षण तब हठात् द्विगुणित हुए जब ओज एवं निष्ठा के हस्ताक्षर , बंगाल एवं झारखंड के नव कोआर्डिनेटर आचार्य अमरेश झा , गांभीर्य की प्रतिमूर्ति स्वामी यु.पी.सिंह तथा रांची जोन के कोआर्डिनेटर आचार्य चंदन का शुभागमन “ओशो ध्यान मंदिर” में हुआ। शिष्टाचारों के पश्चात एक विशिष्ट बैठक आहूत की गई। आचार्यवरों की गरिमामयी उपस्थिति में उनके निर्देशानुसार रामगढ़ जिले के कोआर्डिनेटर स्वामी मनोज गुप्ता , मीडिया कोआर्डिनेटर स्वामी राज़ रामगढी , सोशल मीडिया कोआर्डिनेटर स्वामी किशोर गुप्ता , प्रोग्राम को-ऑर्डिनेटर वाई ई अशोक कुमार गुप्ता को बनाया गया। कुछ अन्य निर्णय भी लिए गए हैं जिसकी घोषणा सप्ताहांत में की जाएगी।
परिचर्चा के क्रम में एक दिवसीय ध्यान , सद्गुरु की पावन उपस्थिति में सत्संग , वनभोज तथा ध्यान – समाधि कार्यक्रम के संदर्भ में भी महत्वपूर्ण विमर्श किया गया। आचार्यवरों द्वारा मां शिवांगी गुप्ता को उनकी उपलब्धियों के लिए सम्मानित करने के पश्चात स्वामी अशोक गुप्ता ( गुप्ता मोबाइल ) के द्वारा आभार प्रकट किया गया।
इस अवसर पर स्वामी सुधीर , मां रानी , मां पार्वती , मां सोनी , मोहन सहित अन्य ओशो साधकगण उपस्थित थे।