वरिष्ठ नागरिक समाज का पथ प्रदर्शक : सचिव

गोड्डा : पैन इंडिया एवं एवं आउटरीच कार्यक्रम के सातवें दिन शुक्रवार को झालसा के निर्देश के आलोक में स्थानीय सदर अस्पताल परिसर में वरिष्ठ नागरिकों के अधिकार से संबंधित कानूनी प्रावधानों पर आधारित जागरूकता शिविर का आयोजन किया गया। जिला विधिक सेवा प्राधिकार की ओर से आयोजित इस कार्यक्रम की अध्यक्षता डालसा सचिव दयाराम ने किया जबकि धन्यवाद ज्ञापन पूर्व डीएस सह वरीय चिकित्सा पदाधिकारी डॉ .प्रदीप कुमार सिन्हा द्वारा किया गया। इस अवसर पर प्राधिकार के सचिव दयाराम ने कहा कि वरिष्ठ नागरिक समाज का पथ प्रदर्शक होता है। उनकी सेवा एवं भरण पोषण का दायित्व परिजनों पर है। कानून में भी उनके लिए भरण पोषण की व्यवस्था की गई है। वरिष्ठ नागरिकों के लिए नालसा की ओर से भी कार्यक्रम चलाए जाते हैं। उन्होंने वरिष्ठ नागरिकों से संबंधित किसी भी समस्या के समाधान के लिए जिला विधिक सेवा प्राधिकार के समक्ष आवेदन देने की बात कही। प्रथम श्रेणी न्यायिक दंडाधिकारी किशोर कुमार ने कहा कि वरिष्ठ नागरिकों के लिए सरकार की ओर से जगह-जगह ओल्ड होम एवं विभिन्न प्रकार के पेंशनो की व्यवस्था की गई है। यहां तक की श्रमिक बुजुर्गों के लिए भी पेंशन की व्यवस्था है। इस बात को जगह जगह पर प्रचारित करने को लेकर आह्वान किया। इसके अलावा नगर परिषद उपाध्यक्ष बेणू चौबे ने गांधी जयंती के अमृत महोत्सव पर आयोजित इस प्रकार के कार्यक्रम में लोगों के बढ़-चढ़कर भाग लेने का आह्वान किया। कार्यक्रम के दौरान रिटेनर अधिवक्ता अफसर हसनैन, अजीत कुमार के अलावा संरक्षण पदाधिकारी ओम प्रकाश, तेजस्विनी परियोजना के जिला संयोजक मो. यासिर, पथरगामा सीडीपीओ सावित्री देवी ने भी कार्यक्रम में विभाग से संचालित योजनाओं के बारे में जानकारी दी। इस दौरान अस्पताल प्रबंधक मोनाली राय, पीएलवी निरंजन पासवान, वासुदेव मनी नंदन, नवीन कुमार, बैजंती माला, अंजनी कुमारी, इंतेखाब आलम राजू, मो. नवाज, जायसवाल मांझी, धनंजय कुमार आदि उपस्थित थे।