शांति समिति की बैठक में सूचना नहीं देने का मुद्दा रहा छाया

मिहिजाम से मिथिलेश निराला की रिपोर्ट

मिहिजाम: मुहर्रम त्यौहार को लेकर मिहिजाम थाना परिसर में गुरुवार की शाम को शांति समिति की बैठक आयोजित की गई। जिसकी अध्यक्षता पुलिस इंस्पेक्टर सुनील कुमार चौधरी ने किया। इस बैठक में उपस्थित लोगों ने थाना से शांति समिति की बैठक की सूचना नहीं देने का मुद्दा के साथ उठाया। जिसका समर्थन जिला परिषद सदस्य अमिता टू डू के अलावे लोगों ने अन्य लोगों ने किया। लोगों की शिकायत थी की शांति समिति की बैठक की सूचना नहीं मिलता है। जिस कारण शांति समिति की बैठक में वे लोग पहुंच नहीं हो पाते हैं। वही इस बात का निदान हेतु सुझाव दिया गया कि मिहिजाम थाना की ओर से शांति समिति का एक व्हाट्सएप ग्रुप बनाया जाए। जिसके तहत शांति समिति के सदस्यों को सूचना का आदान-प्रदान सहज तरीके से मिल सके। बैठक के माध्यम से पुलिस इंस्पेक्टर ने लोगों से मुहर्रम त्यौहार को लेकर सुझाव लिए। तत्पश्चात उन्होंने सरकार के द्वारा जारी किए गए कोविड-19 का पालन करते हुए मुहर्रम त्यौहार मनाने की बात कही पुलिस इंस्पेक्टर ने कहा कि क्योंकि प्रदेश में किसी भी तरह का धार्मिक आयोजन ,जुलूस ,इत्यादि पर प्रतिबंधित लगा हुआ है। इस प्रोटोकॉल का पालन करते हुए मुहर्रम त्यौहार मनाना है। मोहर्रम के दिन किसी प्रकार का अखाड़ा एवं जुलूस का आयोजन नहीं किया जाएगा। जिस पर उपस्थित सभी लोगों ने सहमति जताते हुए कहा कि सरकार के दिशा निर्देश के तहत ही मुहर्रम मनाया जाएगा। हालांकि पुलिस इंस्पेक्टर ने इस बात का भरोसा दिलाया कि आने वाले दिनों में सभी लोगों को शांति समिति की बैठक को लेकर सूचित किया जाएगा। इस अवसर पर थाना प्रभारी अरविंद कुमार सिंह, जिला परिषद अध्यक्षा अनीता टू डू,मिहिजाम नगर परिषद अध्यक्ष कमल गुप्ता, उपाध्यक्ष शांति देवी के अलावे वार्ड परिषद सदस्य विष्णु देव मुर्मू, सेवानिवृत्त शिक्षक दाऊद अंसारी, जफरुल्ला खान, दानिश रहमान, गुड्डू सिंह, वाहिद अंसारी, खुद्दुस अंसारी, प्रोफेसर अली, पूर्व भाजपा जिला अध्यक्ष सुरेश राय के अलावे अन्य लोग उपस्थित रहे।