पुलिस के हस्तक्षेप के बाद शांत हुआ जमीन विवाद का मामला

महेशपुर :थाना क्षेत्र के दुमदुमि गांव में दो पक्षों के बीच जमीन विवाद को लेकर बढ़ते मामला को देखते हुये पुलिस प्रशासन सदल बल गांव पहुँचकर मामला को शांत कराया l प्राप्त जानकारी के अनुसार मामला मंगलवार की देर शाम को गांव के महिलाओं ने एक जुट होकर दूसरे पक्ष के तीन लडक़ी को पकड़ कर ग्राम प्रधान के घर पर रख देने से मामला तुल पकड़ लिया l बता दें की
दुमदुमि गांव के पहला पक्ष के बाबूधन टूडू के साथ गांव के ही दूसरे पक्ष के गिरीश सोरेन एवं उसके भाइयों के बीच जमीन को लेकर विवाद चल रहा था। जिसको लेकर बीते दिन मंगलवार को पहला पक्ष के द्वारा 21 अगस्त को गांव में बैठक का आयोजन किया गया था परंतु उक्त बैठक में दूसरे पक्ष के कोई भी सदस्य उपस्थित नहीं हुए। वही पहला पक्ष के द्वारा बीते कल सोमवार को ग्राम प्रधान के घर पर जमीनी विवाद की मुद्दा को सुलझाने के लिए दूसरे पक्ष को बुलाया गया। परंतु दूसरे पक्ष के लोग फिर बैठक में उपस्थित नहीं हुआ और अपने घर के महिलाओं को छोड़कर सभी पुरुष गांव से भाग गए थे। बैठक में दूसरे पक्ष के कोई भी सदस्य उपस्थित नहीं होने पर। ग्रामीणों ने भड़क कर गांव के गुड़ेत के माध्यम से फिर से दूसरे पक्ष के घर भेज कर महिलाओं को बैठक में उपस्थित होने की सुचना देते हुये बुलाया गया परंतु दूसरे पक्ष के लोग फिर भी बैठक में शामिल नहीं होने पर आक्रोशित महिलाओं ने दूसरे पक्ष के तीन महिलाओं को पकड़कर ग्राम प्रधान के घर लाया एवं तीनों महिलाओं को ग्रामीणों द्वारा बोला गया कि दूसरे पक्ष के पुरुष लोग को बुलाओ तब तुम लोग को छोड़ेंगे। घटना की जानकारी मिलते ही बिते मंगलवार की रात को डीएसपी पाकुड़ बैजनाथ प्रसाद, एसडीपीओ महेशपुर नवनीत हेम्ब्रम, सीओ रितेश जयसवाल। पुलिस बल के साथ गांव पंहुच कर मामले की जानकारी ली तथा प्रशासन द्वारा उग्र ग्रामीणों को काफी समझया पर ग्रामीण नहीं मना और पुलिस अधिकारियों को गांव की महिलाओं ने कहा कि दूसरे पक्ष के गिरीश सोरेन को ले आये तब हम तीनों महिलाओं को छोड़ देंगे और जमीन विवाद का फैसला भी कर लेंगे। पुलिस अधिकारियों के द्वारा गांव की महिलाओं को आश्वासन दिया गया कि। दूसरे पक्ष के गिरीश सोरेन को बुधवार सुबह 12 बजे तक गांव में लेकर आएंगे। वही ग्रामीण महिलाओं ने तीनों महिलाओं पकलू सोरेन, मिरु सोरेन एवं कहां सोरेन को ग्राम प्रधान के घर पर रखा गया था। समाचार भेजे जाने तक बुधवार दोपहर तक जेएसआइ शुभम कुमार सिंह, एएसआइ मृत्युंजय कुमार पाठक, सुरेश प्रसाद, शौकत अली अंसारी पुलिस बल के साथ कैंप किए हुए थे। मौके पर पाकुडिया थाना प्रभारी चंदन गुप्ता सहित महेशपुर थाना एवं पाकुड़िया थाना के सशस्त्र बल एवं जिला पुलिस बल मौजूद था। बुधवार दोपहर के बाद सीओ रितेश जयसवाल अंचल निरीक्षक राजेश कुमार साहा के साथ दुमदुमि गांव पहुंच कर सीओ ने प्रथम पक्ष एवं द्वितीय पक्ष लोगों से सफल वर्ता करते हुये सुलझा दिया गया साथ ही आक्रोशित ग्रामीणों ने गिरिस सोरेन को 60 हजार रूपये की आर्थिक दंड लगाते हुये पकड़े रखे तीनो महिलाओ को मुक्त कर दिया गया