रघुवर सरकार में बनी झारखंड विधानसभा भवन की उच्चस्तरीय निष्पक्ष जाँच हो : राजद

रांची: झारखंड विधानसभा भवन का निर्माण नींव जिस दिन पडा उसी समय से बनाने वाली कंपनी और सरकार के बीच में कमीशन का खेल शुरु हो चुका था, उस समय भी राजद भवन प्राकलन में विरोध दर्ज कराई थी ! राष्ट्रीय जनता दल के पूर्व प्रदेश महासचिव स प्रवक्ता मनोज कुमार पाण्डेय ने नये विधानसभा भवन में हो रही टुट फुट, एवं पिछले बार हुई आगजनी पर अपनी प्रतिक्रिया व्यक्त करते हुए कहा कि देश में सबसे सुंदर और ऊंचा 39 एकड़ में बना झारखंड विधानसभा भवन 465 करोड़ के लागत में देश के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी द्वारा 12 सितंबर 2019 को तत्कालीन मुख्यमंत्री रघुवर दास की उपस्थिति में उद्घाटन हुआ था! उस समय देश के प्रधानमंत्री राज्य की जनता को सौगात देते हुए कहे थे, यह भवन बहुत ही सुंदर और मजबूत और भ्रष्टाचार ना के बराबर हुआ कार्य होने पर मुख्यमंत्री और संबंधित ठेकेदार बधाई के पात्र हैं! अब ऐसा लगता है कि सचमुच भवन बनाने में भ्रष्टाचार की गंगोत्री मिलीभगत से ही की गई थी, राज्य की जनता खुश थी कि 39 ऐकड में फैली देश का पहला विधानसभा भवन पेपर लेस 60 प्रतिशत हरियाली वाली 465 करोड़ में बनी भवन है, लेकिन विधानसभा भवन आज अपने दुर्दशा पर रोने को मजबूर हो रही है , राज्य की जनता को क्या पता था, कि तत्कालीन मुख्यमंत्री काल बनाई गई झारखंड भवन में रघुवर दास अपने हंसते हुए फोटो सूट करा रहे थे, जनता सब जानती है,जनता मालिक है और इस जनता का पैसा का रघुवर सरकार द्वारा गलत ढंग से लूट खंड में बदलते हुए खर्च किया गया है ! राष्ट्रीय जनता दल चाहती है कि इसकी उच्चस्तरीय जांच होनी चाहिए साथ ही साथ विधानसभा में फर्नीचर ऊर्जा के अलावा कई अन्य चीजों को भी टेंडर के माध्यम से खरीदारी हुई है इसकी भी  मुख्यमंत्री द्वारा एक विशेष टीम गठन करके जांच करानी चाहिए ताकि दूध का दूध और का पानी हो सके!

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *