मुहर्रम पर नहीं होगा अखाड़ा, नहीं निकलेगी ताजिया व जुलूस

बोकारो से जय सिन्हा
बोकारो: समाहरणालय सभागार में उपायुक्त कुलदीप चौधरी ने शुक्रवार 20 अगस्त को होने वाले मुहर्रम को लेकर गुरुवार को जिला स्तरीय शांति समितिकी बैठक की। बैठक में पुलिस अधीक्षक चंदन झा, उप विकास आयुक्त जय किशोर प्रसाद, अनुमंडल पदाधिकारी चास दलीप प्रताप सिंह शेखावात, अनुमंडल पदाधिकारी बेरमो अनंत कुमार, सभी बीडीओ – सीओ, मुख्यालय डीएसपी, एसडीपीओ, पुलिस निरीक्षक, सभी थानों के थाना प्रभारी आदि उपस्थित थे।

बैठक में उपायुक्त कुलदीप चौधरी ने राज्य सरकार से प्राप्त दिशा निर्देशों से सभी को अवगत करवाया। साथ ही वर्तमान में कोरोना वायरस संक्रमण एवं इसके थर्ड वेब की संभावना को बताया। कहा कि ऐसे में हमें और सजग और शतर्क रहना होगा। मुहर्रम में इस बार भी अगले वर्ष की भांति अखाड़ा (लाठी खेला) एवं ताजिया जुलूस पर प्रतिबंध रहेगा। किसी भी तरह के भीड़ जुटाने की अनुमति नहीं होगी। ताजिया को संबंधित स्थान (चौक) पर रखने पर सोशल डिस्टैंसिंग का अनुपालन करते हुए लोग इबादत करेंगे। नियाज – फतिया ( इबादत) के दौरान लोगों को कोविड – 19 के तहत दिए दिशा – निर्देशों का अनुपालन करना होगा। छह गज की सोशल डिस्टैंसिंग के साथ मास्क एवं सैनेटाइजर का इस्तेमाल करना होगा।

जिला प्रशासन द्वारा जारी दिशा निर्देश का अनुपालन करते हुए पर्व को शांतिपूर्ण एवं सौहार्दपूर्ण माहौल में मनाने को कहा। उपायुक्त ने प्रशासनिक अधिकारियों को अलर्ट मोड में रहने को कहा है। संवेदनशील स्थानों को चिन्हित करते हुए उन स्थानों पर विशेष फोकस करने को कहा। निर्देश दिया कि सभी शाम को एक बार पुनः प्रखंड स्तर पर समिति की बैठक कर जिला प्रशासन के दिशा निर्देशों से मुहर्रम समिति व संबंधित लोगों को जानकारी दें। उन्होंने समाज के लोगों से शांतिपूर्ण माहौल में मास्क एवं सोशल डिस्टैंसिंग का अनुपालन करते हुए इबादत करने का अपील किया।
पुलिस अधीक्षक चंदन झा ने कहा कि कोरोना प्रतिबंध का अनुपालन करते हुए अनुशासन के साथ जिस तरह राम नवमी, बकरीद – ईद आदि का पर्व पिछले दिनों मानाया गया है। उसी तरह मुहर्रम का पर्व भी कोविड प्रोटोकाल के अनुरूप मनेगा। सभी दिए गए दिशा – निर्देशों का अनुपालन अपने – अपने क्षेत्र में सुनिश्चित कराएं। सभी दंडाधिकारी, थाना प्रभारी – वरीय अधिकारी व पुलिस पदाधिकारी आपस में समन्वय स्थापित कर काम करें। विधि व्यवस्था की किसी तरह की कोई परेशानी नहीं हो इसके लिए पर्याप्त संख्या में सभी स्थानों पर दंडाधिकारी एवं पुलिस बल प्रतिनियुक्त रहेंगे।