अतिक्रमण हटाने का ग्रामीणों ने किया विरोध

बोकारो से जय सिन्हा
बोकारो:  बोकारो इस्पात नगर से सटे धनखरी बस्ती को रेलवे के द्वारा लगभग 16 परिवारो को घर हटाने को लेकर नोटिस जारी किया गया है। इसको लेकर ग्रामीणों में भारी आक्रोश देखा जा रहा है। ग्रामीणों का कहना है कि हम किसी कीमत पर अपने घरों को नहीं खाली करेंगे ।चाहे इसके लिए हमें जो भी कदम उठाना पड़े हम उठाने के लिए तैयार हैं। जानकारी के मुताबिक 22 जुलाई को रेलवे के द्वारा धनघरी बस्ती के 16 परिवार के लगभग 25 घरों को खाली कराने का नोटिस जारी किया है ।रेलवे के द्वारा गांव को अतिक्रमण क्षेत्र घोषित किया गया है। बस्ती से सटे हुए टीटी रेलवे लाइन है, जिसमें मालगाड़ी का परिचालन होता है। पूर्व में सिंगल लाइन बनाने को लेकर घरों को वहां से हटाने का काम किया गया था। लेकिन वर्तमान समय में रेल लाइन का दोहरीकरण का कार्य चल रहा है। ऐसे में इस बस्ती के घरों को हटाना जरूरी हो गया है। लेकिन ग्रामीणों का कहना है कि हमने बोकारो स्टील और राज्य सरकार को जमीन दी है। रेलवे को हम लोगों ने जमीन नहीं दी है। हम लोग बोकारो स्टील के विस्थापित किए हुए लोग हैं। ऐसे में मुआवजा और रहने के लिए अलग से जगह उपलब्ध नहीं कराया जाएगा तब तक हम लोग घरों को हटाने का काम नहीं करने देंगे। लोगों का कहना है कि जरूरत पड़ी तो हम लोग रेलवे पटरी पर सोकर विरोध करेंगे। अब देखना यह है कि ग्रामीणों का यह आक्रोश रेलवे को कितना भारी पड़ता है।