स्वतंत्रता सेनानी युगल किशोर चौबे के निधन से शोक की लहर

गोड्डा/पथरगामा: पथरगामा के निवासी स्वतंत्रता सेनानी युगल किशोर चौबे का का बुधवार को अपने आवास पर निधन हो गया। 94 वर्षीय स्वतंत्रता सेनानी पिछले दो सप्ताह से बीमार चल रहे थे। उनके निधन की सूचना पाकर सामाजिक एवं राजनीतिक हलकों में शोक की लहर दौड़ पड़ी। स्थानीय सांसद डॉ निशिकांत दुबे, विधायक अमित मंडल समेत राजनीतिक एवं सामाजिक क्षेत्र के अनेक लोगों ने स्वतंत्रता सेनानी के निधन पर गंभीर संवेदना व्यक्त की है।
जंगे आजादी के लिए अंग्रेज हुकूमत की यातना सहने वाले स्वतंत्रता सेनानी युगल किशोर चौबे की निधन की सूचना पर पथरगामा के सीओ सह बीडीओ संतोष बैठा, थाना प्रभारी सहित पुलिस बल के जवानों ने माल्यार्पण कर श्रद्धांजलि अर्पित की। मौके पर भाजपा ओबीसी मोर्चा के जिला अध्यक्ष सुबोध साह एवं प्रखंड अध्यक्ष गोलू पंडित सहित भाजपा कार्यकर्ताओं ने भी स्वतंत्रता सेनानी के पार्थिव शरीर पर माल्यार्पण कर श्रद्धा सुमन अर्पित किए। इस मौके पर उपस्थित लोगों ने दो मिनट का मौन रख मृत आत्मा की शांति के लिए ईश्वर से प्रार्थना की।
सांसद डॉ निशिकांत दुबे एवं विधायक अमित मंडल ने सोशल मीडिया प्लेटफ़ॉर्म पर शोक संवेदना व्यक्त करते हुए स्वर्गीय चौबे के प्रति श्रद्धा निवेदित किया।
परिजनों ने बताया कि स्वतंत्रता सेनानी युगल किशोर चौबे स्वतंत्रता दिवस के मौके पर पांच बार दिल्ली में राष्ट्रपति के हाथों सम्मानित हुए थे। वहीं झारखंड में तीन बार गवर्नर के
हाथों सम्मानित हुए थे। 12 अगस्त 2019 को सांसद निशिकांत दुबे ने स्वतंत्रता सेनानी के घर पहुंचकर उन्हें अपने हाथों से मोबाइल एप के जरिये भाजपा की सदस्यता दिलाई थी। वह अपने पीछे चार पुत्र आदित्य चौबे, प्रदीप चौबे, उत्तम चौबे , ध्रुव चौबे और एक पुत्री पूनम उपाध्याय को छोड़ गए । उनके निधन की सूचना पर आवास पर लोगों की भीड़ लग गई। मौके पर वरिष्ठ अधिवक्ता अशोक चौबे, पूर्व जीपी विक्रमादित्य चतुर्वेदी, पूर्व बीस सूत्री अध्यक्ष नरसिंह भगत, मुनिलाल भगत, विश्व हिंदू परिषद के अबनी भगत, पंचायत अध्यक्ष गोपाल भगत, निरंजन यादव साहित अन्य परिजन और शुभ चिंतक मौजूद थे।