” वर्तमान परिदृश्य में दिव्यांग जनों के अधिकार ” विषय पर कार्यशाला का हुआ आयोजन

रांची: भारत सरकार के सामाजिक न्याय अधिकारिता मंत्रालय के दिव्यांगजन सशक्तिकरण विभाग के अंतर्गत कार्यरत दिव्यांग जनों के लिए समेकित पुनर्वास केंद्र (CRC- SVNIRTAR) के द्वारा आज दिव्यांग जनों के लिए दो विषयों पर ऑनलाइन कार्यक्रम आयोजन किया गया ।

पहला कार्यक्रम ” वर्तमान परिदृश्य में दिव्यांग जनों के अधिकार ” विषय पर आयोजित की गई जिसमें मुख्य वक्ता और विशेषज्ञ के तौर पर अधिवक्ता व दिव्यांग कानून के जानकार श्री अशोक कुमार द्विवेदी के द्वारा प्रतिभागियों को वर्तमान परिदृश्य में दिव्यांग जनों के विभिन्न अधिकारों के बारे में जानकारी दी गई और आपदा प्रबंधन में सरकारी तंत्र और गैर सरकारी संगठनों की भूमिका बारे में बताएं। श्री त्रिवेदी भारत सरकार के मुख्य निशक्तता आयुक्त के सलाहकार बोर्ड के सदस्य व दिव्यांग जनों के लिए कार्यरत राष्ट्रीय संस्थानों व विश्वविद्यालयों में कार्यकारिणी सदस्य एवं सलाहकार सदस्य के रूप सेवाएं दे रहे हैं। कार्यक्रम का शुभारंभ CRC रांची के निदेशक श्री जीतेंद्र यादव ने किया। साथ ही विशिष्ट अतिथि के तौर पर CRC रांची के नोडल अधिकारी श्री प्रमोद कुमार तिग्गा उपस्थित थे।

दूसरे ऑनलाइन कार्यक्रम में जो कि CRC के द्वारा “टाटा स्टील फाउंडेशन” के अंतर्गत कार्यरत ” सबल सेंटर फ़ॉर एबिलिटी” (दिव्यांग जनों के लिए एक कौशल विकास केंद्र के रूप में कार्यरत) के साथ मिलकर आयोजित की गई। इस कार्यक्रमों में भारत सरकार के द्वारा दिव्यांग जनों के लिए चलाई जा रही शिक्षा, पुनर्वास, कौशल विकास, छात्रवृत्ति, स्वरोजगार आदि की विभिन्न योजनाओं की जानकारी प्रदान की गई। इस सत्र में विशेषज्ञ के तौर पर अमर ज्योति प्रशिक्षण केंद्र , ग्वालियर के प्राचार्य श्री सतीश चंद्र व जामिया मिलिया इस्लामिया विश्वविद्यालय के विशेष शिक्षा के सहायक प्रोफेसर श्री सौरभ राय ने अपना संबोधन दिया । कार्यक्रम में CRC के सहायक प्राध्यापक प्रीति तिवारी ने दिव्यांग जनों के लिए विभिन्न शैक्षणिक कानूनी प्रावधानों के बारे में जानकारी प्रदान की कार्यक्रम का संयोजन CRC रांची के तरफ से श्री सतीश कुमार और राजेश चौधरी ने किया। कार्यक्रम में झारखंड के विभिन्न जिलों के साथ-साथ देश के लगभग एक सो चालीस प्रतिभागियों ने योगदान दिया।