नवरात्रि के चौथे दिन आज स्कंदमाता की पूजा, पंडित अरुण कुमार झा ने बताया जानें महत्व और पूजन विधि

पाकुड़िया: प्रखंड के पाकुरिया दुर्गा मंदिर एवं मोगलाबांध दुर्गा मंदिर में भक्तों का सुबह से ही ताता लगा रहा। शारदीय नवरात्रि के चौथे दिन 10 अक्टूबर रविवार को मां स्कंदमाता की पूजा हुई। पुरोहित पंडित अरुण कुमार झा ने बताया कि वैसे तो 9 दिन के नवरात्रि में मां स्कंदमाता की पूजा का पांचवे दिन पूजन का विधान है, लेकिन इस बार नवरात्रि 8 दिन होने की वजह से ये फेरबदल हुआ है. नवरात्रि के तीसरे दिन दो देवियों का एक साथ पूजन किया गया। संतान प्राप्ति के लिए मां देती हैं विशेष आशीर्वाद। देवी की पूजा के साथ स्वयं हो गया कार्तिकेय की पूजा। शारदीय नवरात्रि के चौथे दिन आज रविवार को नवदुर्गा के पांचवे स्वरुप स्कंदमाता का पूजन हुआ । कार्तिकेय (स्कन्द) की माता होने के कारण इनको स्कन्दमाता कहा जाता है. वहीं शहर के कई मंदिरों में भी उल्लास के साथ पूरोहित के द्वारा पूजा अर्चना किया गया।