अक्षय नवमी को महिलाओं ने की आंवला वृक्ष की पूजा, पति एवं पुत्र का दीर्घायु का किया कामना

Women worship Amla tree on Akshaya Navami, wishing husband and son long life

बरही से बिपिन बिहारी पाण्डेय

बरही: बरही प्रखंड परिसर स्थित अब्दुल कलाम पार्क में शनिवार को महिलाओं ने अक्षय नवमी पर्व पर आंवला वृक्ष की पूजा कर अपने पति एवं पुत्र की दीर्घायु की कामना की। कार्तिक शुक्ल पक्ष की नवमी तिथि जो अक्षय नवमी नाम से प्रसिद्ध है। इस दिन महिलाएं अपने पति एवं पुत्र की दीर्घायु होने की कामना के साथ अक्षय पुण्य प्राप्ति की निमित्त आंवला वृक्ष की पूजा के दौरान परिक्रमा कर दान की। मौके पर गौतम पांडे ने बताया कि आज का दान अक्षय दान होता है। महिलाएं कुष्मांड दान अर्थात भतुआ में गुप्तदान पुरिहत को दिया जाता है। इस दिन आंवला वृक्ष की पूजा परिक्रमा तथा उसकी छाया में भोजन करने से अक्षय पुण्यदायक फल मिलता है। मान्यता है कि आंवला नवमी स्वयं सिद्ध मुहूर्त है। इस दिन दान, जप व तप सभी अक्षय होकर मिलते हैं। इस दिन भगवान विष्णु और आंवले के पेड़ की पूजा की जाती है। महिलाएं व्रत रखा पूजा के बाद आंवला पेड़ की छाया में बैठकर भोजन ग्रहण अपने पति बाल-बच्चों के साथ करती है। माना जाता है कि ऐसा करने से हर तरह के पाप और बीमारियां दूर होती हैं। शनिवार को पूरे दिन पूजा-अर्चना का दौर चलता रहा। पूजन कराने में पुरोहित लखन शर्मा, परमानंद पांडे, गौतम पांडे, कृष्णा पांडे, संजय पांडे, जगदीश पांडे, राजेंद्र पांडे आदि थे।