बटन मशरूम लगाने का दिया गया प्रशिक्षण

खूंटी : खूंटी जिले के मशरूम किसानों को ग्राम स्तर पर बटन मशरूम की खेती करने के लिए प्रदान संस्था के द्वारा जनजातीय कार्य मंत्रालय और फिक्की के सहयोग से दिया जा रहा दो दिवसीय प्रशिक्षण दिया गया। इस प्रशिक्षण में बटन मशरूम की खेती के बारे में तकनीकी जानकारी और इसके लिए संभावित चुनौतियों को दूर करने की जानकारी बिहार में मशरूम मैन के रूप में जाने जाने वाले संजीव कुमार के द्वारा दी गई। किसानों ने आउस्टर मशरूम की खेती के पिछले अनुभवों को साझा किया और बताया कि यह कैसे उनके और उनके परिवार के लिए फायदेमंद हो गया है और वे इसको करने में दक्ष हो गए हैं। ठंडे मौसम में होने वाले बटन मशरूम को करने का प्रशिक्षण कर के अब गांव की दीदियां बटन मशरूम की खेती करेगी। इसके लिए लगने वाले कंपोस्ट और स्पॉन की व्यवस्था करने की जिम्मेवारी खूंटी तोरपा एस एच जी मेंबर्स एग्री हॉर्टिकल्चर कॉपरेटिव ने ली है। बटन मशरूम के उत्पादन के आसान तरीकों को सीख कर दीदियों में उत्साह भर गया है और बटन मशरूम की खेती कर के उससे भी मुनाफा कमाने की उम्मीद कर रहे हैं। प्रशिक्षक संजीव कुमार ने बताया कि खूंटी के मौसम में कम से कम तीन महीनों तक बटन मशरूम की खेती की जा सकती है और उसके बाद ऑस्टर मशरूम की खेती के लिए बहुत ही उपयुक्त मौसम है। मशरूम की खेती यहां के किसानों के लिए बहुत ही अच्छा आय का साधन हो सकता है। इस प्रशिक्षण में कुल 25 किसानों ने भाग लिया। प्रदान से विजय वीरू, ज़हरा अमिन, कविता बोदरा, यश ओंधिया मौजूद थे।