उप विकास आयुक्त ने ली सामाजिक अंकेक्षण की समीक्षात्मक बैठक 

गढ़वा से नित्यानंद दुबे की रिपोर्ट
गढ़वा: शनि वार को उप विकास आयुक्त सत्येंद्र नारायण उपाध्याय की अध्यक्षता में मनरेगा के तहत सामाजिक अंकेक्षण को लेकर जिला स्तरीय समीक्षात्मक बैठक हुई।

बैठक में उप विकास आयुक्त के द्वारा वित्तीय वर्ष 2017 से 20 तक किए गए सामाजिक अंकेक्षण के दौरान पाई गई त्रुटि के निराकरण एवं उसे मनरेगा सॉफ्ट के पोर्टल पर साक्ष्य सहित अपलोड करने के संबंध में आवश्यक दिशा निर्देश दिया गया। जिसमें सुनील तिवारी, जिला रिसोर्स पर्सन एवं उनके सहयोगी के साथ- साथ सभी प्रखंड विकास पदाधिकारी एवं प्रखंड कार्यक्रम पदाधिकारी मुख्य रूप से उपस्थित थे।

मौके पर उप विकास आयुक्त के द्वारा सभी प्रखंड विकास पदाधिकारियों को निर्देश दिया गया कि 3 दिनों के अंदर अंकेक्षण में पाई जाने वाली त्रुटि एवं पंचायत तथा प्रखंड स्तर से पारित किए गए ज्यूरी के निर्णय के आलोक में प्रतिवेदन तैयार किया जाए। बैठक में उप विकास आयुक्त ने सोशल ऑडिट में प्रखंड-वार मामलों की समीक्षा भी की तथा प्रखंड विकास पदाधिकारियों को विशेष प्राथमिकता देते हुए आगामी 3 दिनों के भीतर इसका निष्पादन करने का निर्देश दिया। इसके साथ ही उन्होंने संबंधित प्रखंड विकास पदाधिकारी एवं प्रखंड कार्यक्रम पदाधिकारी को उनके क्षेत्र में कितने ऐसे मामले हैं जहां रिकवरी होनी है पर अब तक नहीं हुई, उन पर सर्टिफिकेट केस हुआ है अथवा नहीं इसकी भी जानकारी ली। उन्होंने कहा कि अब तक ऐसे कितने मामले हैं जिन पर कोई कार्रवाई नहीं हुई है उसकी सूची बनाते हुए उन पर कार्रवाई सुनिश्चित की जाएं और यदि कार्रवाई हुई है तो वह किस स्तर तक पहुंची है इसकी डिटेल के साथ रिपोर्ट पोर्टल पर अपलोड करवाना सुनिश्चित किया जाए। इसके अलावा उन्होंने सभी प्रखंड विकास पदाधिकारियों को बिरसा हरित ग्राम योजना में अपनी सक्रियता बढ़ाते हुए विशेष प्राथमिकता के साथ कार्य करने का निर्देश दिया।

इस संबंध में राज्य स्तर से भी मनरेगा आयुक्त एवं सामाजिक अंकेक्षण की राज्य स्तरीय टीम द्वारा वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के माध्यम से बैठक आयोजित कर पंचायत स्तर एवं प्रखंड स्तर पर उठाए गए बिंदुओं का निराकरण करने का निर्देश दिया गया साथ ही एमआईएस में आ रही त्रुटियों को सुधार कर पुनः अपलोड करने का निदेश दिया गया।

समाहरणालय के सभाकक्ष में आयोजित बैठक में उप विकास आयुक्त श्री सत्येंद्र नारायण उपाध्याय के अलावा निदेशक डीआरडीए श्री दिनेश सुरीन, जिला रिसोर्स पर्सन सुनील तिवारी, सभी प्रखंडों से आए प्रखंड विकास पदाधिकारी, प्रखंड कार्यक्रम पदाधिकारी, परियोजना पदाधिकारी दीपक, कार्यालय प्रबंधक डीआरडीए मिथिलेश कुमार समेत अन्य उपस्थित थे।