राष्ट्रीय तंबाकू नियंत्रण कार्यक्रम के तहत दिया गया एक दिवसीय प्रशिक्षण

गढ़वा से नित्यानंद दुबे की रिपोर्ट
गढ़वा : बुधवार को राष्ट्रीय तंबाकू नियंत्रण कार्यक्रम के तहत प्रखंड प्रशिक्षक दल के सदस्यों एवं नेहरू युवा स्वयं सेवकों को सदर अस्पताल गढ़वा के यक्ष्मा केंद्र सभागार में एक दिवसीय प्रशिक्षण दिया गया।

प्रशिक्षण की शुरुआत करते हुए जिला तंबाकू नियंत्रण कार्यक्रम के नोडल पदाधिकारी डॉ जे.पी. सिंह ने कहा की गढ़वा जिले में वर्ष 2016-17 से यह कार्यक्रम चलाया जा रहा है यहाँ तंबाकू नशा मुक्ति केंद्र स्थापित हो चुका है। उन्होंने कार्यक्रम से जुड़े अन्य गतिविधियों पर भी प्रकाश डालते हुए कहा कि किसी भी रोग को बढ़ाने में तंबाकू एक बड़ा कारण साबित होता है, ऐसे में इसके प्रति लोगो के बीच जागरूकता आवश्यक है। प्रशिक्षण में साइकोलॉजिस्ट कुमार संजीव शरण ने तंबाकू से होने वाले शारीरिक नुकसान एवं तंबाकू से संबंधित अन्य वैश्विक आंकड़े को प्रतिभागियों के समक्ष रखा साथ ही साथ इस नशे से बाहर निकालने में टीसीसी (Tobacco Cessation Centers) कैसे मददगार साबित हो रहा है, इसके विषय में बताया। वहीं जिला कार्यक्रम प्रबंधक प्रवीण कुमार ने बीटीटी एवं स्वयंसेवकों को क्षेत्र में जागरूकता कार्यक्रम चलाने हेतु प्रेरित किया एवं सामुदायिक स्तर पर इससे संबंधित परिचर्चा कराने का सुझाव भी दिया।

मौके पर सोशल वर्कर विनय कुमार शर्मा ने प्रतिभागियों को तंबाकू नियंत्रण से संबंधित कोटपा 2003 कानून की विस्तृत जानकारी दी ।साथ ही यह बताया कि अब झारखंड के सभी शैक्षणिक संस्थानों को तंबाकू मुक्त शिक्षण संस्थान घोषित किया गया है एवं तंबाकू मुक्त शैक्षणिक संस्थान TOFEI (Tobacco free educational institution) फॉर्मेट को लागू करवाने संबंधित जानकारी प्रतिभागियों को दी गई ।