गुमला के भू रैयतों ने की सीएम से मुलाकात

गुमला : सिसई बाईपास फोरलेन सड़क निर्माण को रद्द करने को लेकर और एन एच23 चौड़ीकरण की मुआवजा बढाने संबंधित दोनों मामले को लेकर पूर्व विधायक सह शिक्षा मंत्री गीताश्री उराँव ने झारखंड पुराना विधानसभा परिसर कक्ष में पूर्व विधायक, संसद की अहम बैठक में, मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन से सख्ती से बात को रखी और सिसई, भरनो, एवं गुमला के भू- धारकों से मुलाक़ात कराई सिसई बाईपास फोरलेन सड़क निर्माण के भू- धारक जीतराय उराँव ने मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन का पैर पकड़ कर कहा- हम आदिवासियों की हजारों एकड़ खेती हर जमीन बचाईये,, अन्यथा कई आदिवासी/ मूलवासी बेघर हो जाएंग। प्रशासन एवं बिचोलिया भू-धारको को बहलाफुसलाकर और डरा धमका कर जमीन की कागजात को जमा करा रहा है और भू-धारक को ठगी का काम कर रहा है। मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन ने कहा- मुझे इस संबंध में गीताश्री उराँव से समझ चुका हूँ। मै शीघ्र इस पर पहल करूँगा। मौके पर, कांग्रेस पार्टी के युवा अधयक्ष- गंगा उराँव, भू-धारक, रामधारी सिंह जीतराय उराँव, पुनम देबी, कमला देवी, रतिया उराँव, गोविन्द अग्रवाल मुनेशवर साहू, भोला प्रशाद केशरी, रतनलाल अग्रवाल, मशीप्रशाद बाड़ा, अनील केशरी हरि महली आदि उपस्थित था।