नहीं हुई थी छिनतई, रची थी झूठी साजिश

छिनतई मामले का 24 घंटे में पुलिस ने किया उद्भेदन
विजय कुमार की रिपोर्ट
मेहरमा : एक दिन पूर्व मंगलवार को दिनदहाड़े एक लाख रुपये की छिनतई संबंधी खबर झूठी निकली। युवक ने साजिश रच कर रुपए लूटने संबंधी झूठ का ताना-बाना रचा था। पड़ोसी थाना साहिबगंज जिला की मिर्जाचौकी पुलिस ने 24 घंटे के अंदर इस साजिश का पर्दाफाश कर दिया है।
मेहरमा थाना क्षेत्र के भारतीय स्टेट बैंक की भगैया शाखा से मंगलवार को एक लाख रुपये नगद निकासी गौतम कुमार नामक युवक ने की थी। युवक ने परिवार जनों को गुमराह करने एवं रुपए पर हाथ साफ करने के लिए छिनतई की झूठी कहानी रची थी। गौतम ने कहा था कि मिर्जाचौकी थाना क्षेत्र के भगैया- मंडरो मुख्य सड़क के बीच तेतरिया पुल के पास अपराधियों ने बाइक से ओवरटेक करके उसके पास से रुपए लूट लिया था।
लेकिन जांच में मिर्जाचौकी पुलिस ने खुलासा किया कि गौतम ने छिनतई की झूठी कहानी रची थी। यही कारण है कि गौतम ने इस मामले की प्राथमिकी भी दर्ज नहीं कराई थी। मिर्जाचौकी पुलिस ने जब गौतम को थाना लाकर कड़ाई से पूछताछ की तो वह टूट गया और सच उगल दिया। मामले को मिर्जाचौकी थाना प्रभारी अशोक कुमार ने गंभीरता से लेते हुए कड़ी पूछताछ करने पर मामला स्पष्ट हुआ कि पीड़ित युवक उक्त स्थान पर खुद दुर्घटना का शिकार हो गया था और उससे रुपए की छिनतई नहीं हुई थी। उन्होंने साहिबगंज अनुमंडल पुलिस पदाधिकारी राजेंद्र दुबे के समक्ष एक लिखित आवेदन दिया है जिसमें उन्होंने लिखा है कि उनके साथ कोई भी घटना नहीं घटी थी। खुद दुर्घटना का शिकार हो गया था। गौतम ने बैंक से निकासी की गई राशि अधिकारियों के बीच प्रस्तुत किया । मिर्जाचौकी पुलिस ने युवक को भविष्य में इस तरह की झूठी कहानी नहीं रचने की हिदायत देते हुए युवक को छोड़ दिया ।